News

अहमद पटेल के निधन के बाद दिग्विजय सिंह बोले- हर राजनीतिक मर्ज की दवा थे

नई दिल्ली
कोरोना संक्रमित होने के बाद 71 वर्षीय अहमद पटेल (Ahmed Patel Passes Away) के कई अंगों ने काम करना बंद कर दिया था। अहमद पटेल का बुधवार तड़के गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में निधन हो गया। निधन की जानकारी मिलने के बाद अलग-अलग दलों के नेता अहमद पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित कर रहे हैं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी लिखती हैं, ‘अहमद जी न केवल एक बुद्धिमान और अनुभवी सहकर्मी थे, जिनसे मैंने लगातार सलाह ली। वे ऐसे दोस्त भी थे जो हम सभी के साथ दृढ़ता से, ईमानदारीपूर्वक, अंत तक खड़े रहे। उनकी आत्मा को शांति मिले।’

पढ़ें: …जब अहमद पटेल ने इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के ‘खास गिफ्ट’ को किया था मना! जानें सबकुछ

‘वह लोकसभा में गए और मैं विधानसभा
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने अहमद पटेल को श्रद्धांजलि अर्पित की है। दिग्विजय सिंह लिखते हैं, ‘अहमद पटेल नहीं रहे। एक अभिन्न मित्र विश्वसनीय साथी चला गया। हम दोनों वर्ष 1977 से साथ रहे। वे लोकसभा में पहुंचे और मैं विधानसभा में। हम सभी कांग्रेसियों के लिए वे हर राजनीतिक मर्ज की दवा थे। मृदुभाषी, व्यवहार कुशल और सदैव मुस्कुराते रहना उनकी पहचान थी।’

पढ़ें: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन, बेटे फैजल ने ट्वीट कर दी जानकारी

‘मीडिया से दूर लेकिन…’
दिग्विजय सिंह आगे लिखते हैं, ‘कोई भी कितना ही गुस्सा होकर जाए उनमें यह क्षमता थी कि वे उसे संतुष्ट कर ही भेजते थे। मीडिया से दूर, पर कांग्रेस के हर फैसले में शामिल। कड़वी बात भी बेहद मीठे शब्दों में कहना उनसे सीख सकता था। कांग्रेस पार्टी उनका योगदान कभी भी नहीं भुला सकती। अहमद भाई अमर रहें। अहमद पटेल के बेटे फैजल पटेल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए दिग्विजय सिंह लिखते हैं, ‘अहमद भाई बहुत ही धार्मिक व्यक्ति थे और कहीं पर भी रहें नमाज पढ़ने से कभी नहीं चूकते थे। आज देव उठनी एकादशी भी है, जिसका सनातन धर्म में बहुत महत्व है। अल्लाह उन्हें जन्नतउल फ़िरदौस में आला मकाम अता फरमाएं। आमीन’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Time limit is exhausted. Please reload the CAPTCHA.